RT-PCR Full Form In Hindi

दोस्तों इस आर्टिकल में हम यह जानेंगे कि (RT-PCR) क्या होता है तथा RT-PCR Full Form In Hindi क्या होती है | आरटी पीसीआर (RT-PCR) एक टेस्ट होता है जो कि कोरोना का पता लगाने के लिए किया जाता है | कोरोनावायरस का पता लगाने के लिए आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट सबसे सफल टेस्ट माना गया है |

आइए दोस्तों (RT-PCR) को और अच्छे से समझते हैं | आरटी पीसीआर (RT-PCR) को अच्छे से समझने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िएगा |

RT-PCR Full Form In Hindi

आरटी पीसीआर (RT-PCR) की फुल फॉर्म Reverse Transcription Polymerase Chain Reaction (रिवर्स-ट्रांसक्रिप्शन पॉलिमर्स चेन रिऐक्शन टेस्ट) होती है | आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट आरएनए (RNA) में ट्यूमर का पता लगाने के लिए किया जाता है | कोरोनावायरस का पता लगाने मैं यह टेस्ट काफी सफल हुआ है | 2020 में जब कोरोनावायरस का पता लगा था तभी से डॉक्टरों ने इस टेस्ट का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया था |

कोविड-19 की जांच के लिए इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने इसको मंजूरी दी है |

1985 में अमेरिकी बायोकेमिस्ट्स कैरी बी मुलिस के द्वारा पीसीआर टेस्ट का अविष्कार किया गया था | 1993 में कैरी बी मुलिस को रसायन विज्ञान के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था | क्योंकि एक बहुत बड़ी उपलब्धि होती है |

आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट क्या होता है ?

आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट Covid इन्फेक्शन का पता लगाने के लिए किया जाता है | यह टेस्ट शरीर में मौजूद इन्फेक्शन के बारे में बताता है | इस टेस्ट में मरीज के शरीर से डीएनए का सैंपल निकाला जाता है | ज्यादातर यह सैंपल मरीज के गले से लिया जाता है | क्योंकि Covid का सबसे ज्यादा असर नाक व गले पर होता है | आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट कोविड-19 इंफेक्शन का पता लगाने में बहुत ही कारगर साबित हुआ है |

आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट संक्रमण रोग की पहचान करने के लिए किया जाता है इस टेस्ट से सही पता लगता है कि सैंपल में न्यूक्लिक एसिड मौजूद है या नहीं न्यूक्लिक एसिड नाइट्रोजन बेस की लंबी चैन का बहु रूप होता है | इसमें डीएनए और आरएनए होते हैं डीएनए इंसानी शरीर की संरचना के लिए जिम्मेदार होता है आपके शरीर में उंगलियां आंखों के रंग, बालों के रंग, तथा हाथ पांव सबके लिए जिम्मेदार होता है आरएनए एक संदेश वाहक होता है जो कि डीएनए को संदेश पहुंचाने का कार्य करता है |

आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट कब करवाना चाहिए ?

अगर पिछले एक हफ्ता से आपको कोई भी कोविड-19 का लक्षण दिख रहा है या आप किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आए हैं जिसे कोविड-19 इंफेक्शन था तो आपको आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट करवाना चाहिए | अगर आपको निम्न में से कोई लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो आपको आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट करवाना चाहिए |

  • बुखार आना
  • खांसी होना
  • थकावट महसूस करना
  • सर में दर्द होना
  • गले में खराश होना
  • स्वाद का महसूस ना कर पाना
  • गंध का महसूस ना कर पाना
  • जी मचलना

आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट का रिजल्ट

अगर दोस्तों आपका आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट पॉजिटिव आता है तो इसका मतलब यह होता है कि आपको कोविड-19 इंफेक्शन है | अगर आपको कोविड-19 नहीं है तो आपका आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट नेगेटिव आता है |

डॉक्टर आरटी पीसीआर (RT-PCR) क्यों करवाते हैं ?

निम्नलिखित कारणों से डॉक्टर आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट करवाने को कह सकते हैं :

  • आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट करके यह पता लगाया जा सकता है कि आपके शरीर में इनफ्लुएंजा या Sars Cov 2 तो नहीं है |
  • आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट से यह पता लगाया जा सकता है कि आपके शरीर में जो खून है उसके आरएनए में किसी प्रकार का कैंसर या ट्यूमर तो नहीं है |
  • जेनेटिक बीमारियों का पता लगाने के लिए आर्टिफिशियल टेस्ट कराया जा सकता है आर एन ए कोशिका में प्रोटीन का उत्पादन करता है इसलिए आर्टिफिशियल टेस्ट से जींस की रचना को समझा जा सकता है |

आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट कैसे किया जाता है ?

आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट करने के लिए आपके शरीर से ब्लड सैंपल लिया जाता है या फिर आपके ना क्या मुंह से सैंपल लिए जाते हैं | नाक से सैंपल लेने का तरीका निम्न प्रकार है :

  • लैब टेक्नीशियन आपको 70 डिग्री की तरफ घूमने को कहते हैं |
  • इसके बाद वह स्वैब स्टिक को नाक में डालते हैं तथा सैंपल लेते हैं |
  • स्वैब स्टिक को कुछ समय के लिए नाक में ही रखा जाता है ताकि सैंपल अच्छे से लिया जा सके |
  • इसके बाद लैब टेक्नीशियन स्टिक को नाक में घुमा कर बाहर निकालता है |
  • उसके बाद स्टिक को सीसी में बंद कर दिया जाता है और जांच के लिए लैब में भेज दिया जाता है |

मुंह से सैंपल लेने के दौरान भी ठीक इसी प्रक्रिया का उपयोग किया जाता है |

आरटी पीसीआर (RT-PCR) के सामान्य व असामान्य नतीजे |

सामान्य व असामान्य नतीजों को नीचे विस्तृत रूप से वर्णित किया गया है :

सामान्य नतीजे

अगर आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट में आप के नतीजे समाने आते हैं तो इसका अर्थ यह होता है कि आपके आरएनए में किसी प्रकार का ट्यूमर नहीं पाया गया है | इसका मतलब आप के जींस की संरचना सामान्य है और आपको कोविड-19 संक्रमण नहीं है |

असामान्य नतीजे

अगर आपके आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट के नतीजे असामान्य आते हैं इसका अर्थ यह होता है कि आपके आर एन ए में ट्यूमर मौजूद है इसका मतलब आप की चीज की संरचना में कुछ कमियां है | आरटी पीसीआर टेस्ट यह भी बताता है कि शरीर में कितने वायरस मौजूद है | इससे यह पता लगाया जा सकता है कि यह वायरस शरीर में कितने लंबे समय से मौजूद है |

इस टेस्ट के नतीजे देखना डॉक्टर आपको यह बताता है कि इलाज कैसे होगा |

दोस्तों मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आपको RT-PCR Full Form In Hindi के बारे में जानकारी मिली होगी | अगर आप कोई सुझाव देना चाहते हैं या आप कुछ पूछना चाहते हैं तो आप कमेंट बॉक्स में लिख करके हमें बता सकते हैं अगर आप कोई आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों को फैमिली मेंबर्स के साथ जरूर शेयर कीजिएगा |

Other Related Articles:

ESR Full Form In Hindi
CRPC Full Form In Hindi
SGPT Full Form In Hindi
ICDS Full Form In Hindi
MCH Full Form In Hindi
MFG Full Form In Hindi
PPO Full Form In Hindi
MSW Full Form In Hindi
IOT Full Form In Hindi
ISBN Full Form In Hindi
PCOD Full Form In Hindi
HCF Full Form In Hindi
APMC Full Form In Hindi

Leave a Comment