Now In Hindi

RD Full Form In Hindi

RD Full Form In Hindi

दोस्तों आज के इस आर्टिकल मैं हम यह जानेंगे की RD क्या होता है तथा RD Full Form In Hindi क्या होती है। दोस्तों अगर आप बैंक मैं रुपये जमा करने गए होंगे तो आपने RD का नाम जरूर सुना होगा। RD मैं आपको एक फिक्स्ड डिपाजिट एक निश्चित अवधि के अंतर्गत जमा करवाना होता है।

आइये दोस्तों RD को और अच्छी तरह से समझते है। RD Full Form In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िएगा।

RD Full Form In Hindi

RD का फुल फॉर्म RECURRING DEPOSIT होता है। हिन्दी मैं इसे आवर्ती जमा खाता कहते है। इसमें आपको एक निश्चित समय अवधि के बाद एक निश्चित राशि जमा करनी होती है। यह बैंक निवेशकों के बीच काफी प्रचलित है। समय अवधि पूरी होने के बाद मैच्योरिटी की सारी राशि व्यक्ति के खाते मैं जमा कर दी जाती है। इस राशि मैं निवेश की गयी मूल राशि व ब्याज शामिल होता है।

यह अच्छी ब्याज दर वाली, सरकार की महत्वपूर्ण स्किम है। पोस्ट ऑफिस मैं RD खाता सिर्फ 5 वर्षो के लिए ही खोल सकते है। कुछ बैंक है जो 6 महीने, 2 वर्ष व 3 वर्ष के लिए RD अकाउंट बनाने की सुविधा देते है। RD मैं आप 100 रुपये तक का भी निवेश कर सकते है जरुरी नहीं है की सिर्फ बड़ी रकम ही इसमें जमा की जाये।

किसी भी बैंक या डाक घर मैं आप आसानी से rd को खोल सकते है। इसके अलावा आप निवेश की गई राशि अलग अलग बैंको मैं कर सकते है। यह राशि 100 रुपये, 500 रुपये व 1000 रुपये भी हो सकती है। हर बैंक की अपनी अलग पालिसी होती है।

RD की अवधि का समय

RD की अवधि का सामान्य समय 6 महीने से 10 वर्ष तक हो सकता है। कुछ ऐसे भी बैंक है जहाँ ऑनलाइन RD की समय अवधि 12 महीने होती है। पोस्ट ऑफिस जैसी जगह मैं RD निवेश की न्यूनतम राशि 10 रुपये प्रति महीना तक हो सकती है। परन्तु इसके लिए 5 वर्ष तक की समय अवधि जरुरी होती है।

जिस तरीके से पैसे बचाने के लिए हम बैंक मैं पैसे जमा करवाते है उसी तरह उस निवेश को बढ़ाने के लिए हमे RD की जरुरत होती है। RD मैं अच्छा खासा ब्याज मिलता है जिससे आपकी रकम बढ़ जाती है। जिसके लिए आपको RECURRING DEPOSIT ACCOUNT चाहिए होता है। इस अकाउंट मैं आप हर महीने पैसे जमा करवा सकते है। किसी बैंक मैं अपना RD अकाउंट खुलवाना बहुत ही आसान प्रक्रिया होती है।

आपको एक निश्चित समय अवधि पर रुपये जमा करवाने होते है इसीलिए इसको आवर्ती जमा खाता व RECURRING DEPOSIT कहते है।

ONLINE RD ACCOUNT कैसे खोल सकते है।

दोस्तों ONLINE RD ACCOUNT आप इंटरनेट बैंकिंग के द्वारा खोल सकते है। आपको बस अपने USERNAME व पासवर्ड के साथ लॉगिन करने की जरुरत होती है। और आप अपना ऑनलाइन RD अकाउंट खोल सकते है।

ऑनलाइन RD ACCOUNT आप सुबह 8 बजे से रात के 8 बजे तक खोल सकते है। जैसे ही आप अपना RD खाता बनवाते है वैसे ही वह आपसे अनुरोध जमा राशि पूछता है। आपसे पूछा जाता है की कितने समय अवधि पर आप कितनी जमा राशि डालना चाहेंगे।

आप चाहे तो अपनी क़िस्त को ऑनलाइन भी जमा कर सकते है।

RD अकाउंट के लिए कौन कौन से डॉक्यूमेंट जरुरी होते है ?

दोस्तों बैंक मैं RD अकाउंट खुलवाना बहुत ही इजी होता है। बैंक मैं RD अकाउंट खुलवाने के लिए आपको निम्नलिखित डाक्यूमेंट्स की जरुरत होती है :

ऊपर दिए गए डाक्यूमेंट्स को पूरा करके आप आसानी से अपना RD अकाउंट खुलवा सकते है।

RD पोस्ट क्या होता है ?

पोस्ट ऑफिस मैं आवर्ती जमा खाता यानि की RECURRING DEPOSIT की 5 वर्ष की समय अवधि होती है। जिसमे 5.8% का प्रति वर्ष ब्याज दर मिलता है। जो लोग RD अकाउंट खुलवाना चाहते है उनके लिए RD पोस्ट एक बेहतरीन विकल्प हो सकता है।

क्या RD टैक्स फ्री होता है ?

दोस्तों आपको बता दे की RD टैक्स फ्री नहीं होता है। RD से प्राप्त जमा ब्याज राशि पर आपको आयकर भुगतान करना पड़ता है। हर RD धारक को टैक्स का भुगतान करना पड़ता है। यह बहुत आसान होता है इसमें कोई मुश्किल नहीं होती है।

RD या FD मैं से कौन सा अच्छा विकल्प है ?

आपको अगर नहीं पता हो तो बता दे की FD पर ब्याज तब मिलता है जब आपकी FD की समय अवधि पूरी हो जाती है। RD पर अर्जित ब्याज राशि FD पर अर्जित ब्याज राशि से अधिक होती है। इसलिए RD को लोग एक बेहतर विकल्प की तरह चुनते है।

RD मैं आप हर महीने राशि जमा करा सकते है जो की एक बहुत ही बेहतर विकल्प है।

RD करवाने के क्या क्या फायदे होते है ?

RD करवाना बहुत ही फायदेमंद होती है। RD के कई सारे फायदे होते है उनमे से कुछ निम्नलिखित फायदे हमने निचे उल्लेख किये है :

डाक घरो मैं RD की गणना कैसे करते है ?

डाक घरो मैं RD की गणना करने के लिए RD कैलकुलेटर का इस्तेमाल किया जाता है :

R= Rs. 8,000
I = 0.0135 (5.8 / 300)
N = 20 (5 year x 4)

भारत मैं कौन सी RD सबसे बेहतर है ?

भारत मैं कई सारी सर्वश्रेष्ठ RD योजनाएं उपलब्ध है। यह बैंको द्वारा काफी अच्छी RD योजनाए दी जाती है जो की सर्वोत्तम ब्याज दर प्रदान करने का कार्य करती है :

क्या RD मैं अतिरिक्त पैसा जमा होता है ?

RD मैं आप एक निश्चित अवधि पर ही पैसा जमा कर सकते है। बैंक या डाक घर मैं राशि जमा करवाने की एक निश्चित समय अवधि होती है। एक बार RD खाता शुरू हो जाने के बाद आप उसकी जमा राशि व अवधि को नहीं बदल सकते है। इसके अलावा इसमें और कोई राशि जमा करने का विकल्प नहीं होता है।

क्या RD जोखिम भरा है ?

दोस्तों RD मैं निवेश करना बिलकुल भी जोखिम भरा नहीं है। RD पूर्ण तरीके से जोखिम मुक्त है। साथ ही इसमें आपको गारंटीड रिटर्न भी मिलता है। यह म्यूच्यूअल फण्ड तथा स्टॉक मैं निवेश करने से काफी जयादा सुरक्षित है।

क्या कभी RD खाते से पैसा निकाल सकते है ?

दोस्तों बता दे की आप rd खाते से कभी भी पैसा निकल सकते है। बैंक अपने उपभोक्ताओं को पैसे निकालने की सुविधा प्रदान करता है। आप जब चाहे तब कुछ जमा राशि अपनी आवश्यकता के अनुसार निकल सकते है।

क्या RD को सिर्फ 6 महीने की समय अवधि के लिए खोल सकते है ?

आप rd अकाउंट 6 महीने से 10 साल के लिए खोल सकते है। rd खाते बाकि बचत खातों की तुलना मैं ज्यादा ब्याज देते है। यह काफी फायदेमंद होता है इसमें आपको निश्चित अवधि के दौरान कुछ राशि जमा करनी होती है। और यह राशि समय अवधि पूरी होने पर आपको वापिस मिल जाती है।

rd अकाउंट खोलना काफी आसान होता है। आप किसी भी बैंक मैं जाकर के rd अकाउंट खुलवा सकते है। आप चाहे तो ऑनलाइन भी rd अकाउंट खोल सकते है।

क्या RD बैंक मैं पैसे जमा करने का अच्छा विकल्प है ?

दोस्तों आपको बता दे की rd बैंक मैं पैसे जमा करने का एक काफी अच्छा विकल्प है। क्यूंकि इसमें आपको एक ही बारी मैं पूरी राशि का भुगतान नहीं करना होता है। इसमें आपको एक समय अंतराल पर राशि जमा करनी होती है।

जिन लोगी की आय कम है वो भी RD मैं निवेश कर सकते है। इसमें आप 1000 रुपये प्रति महीना भी जमा कर सकते है जिससे की यह एक बहुत अच्छा विकल्प साबित होता है।

दोस्तों मुझे उम्मीद है की इस आर्टिकल ने आपके RD Full Form In Hindi को समझने मैं मदद की होगी। अगर आपका RD से सम्बंधित कोई प्रश्न या सुझाव है तोह आप हमे कमेंट करके पूछ सकते है। अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा है तो इसे अपने दोस्तों व फॅमिली मेंबर्स के साथ जरूर शेयर कीजिएगा।

Other Related Articles:

ESR Full Form In Hindi
SDPO Full Form In Hindi
CRPC Full Form In Hindi
SGPT Full Form In Hindi
ICDS Full Form In Hindi
MCH Full Form In Hindi
MFG Full Form In Hindi
PPO Full Form In Hindi
MSW Full Form In Hindi
IOT Full Form In Hindi
ISBN Full Form In Hindi
PCOD Full Form In Hindi
HCF Full Form In Hindi
APMC Full Form In Hindi
RT-PCR Full Form In Hindi
GDS Ka Full Form In Hindi
GMP Full Form In Hindi
OT Full Form In Hindi
DMLT Full Form In Hindi
CBT Full Form In Hindi
DRA Full Form In Hindi
BDC Full Form In Panchayat In Hindi
BTS Army Full Form In Hindi
CGA Full Form In Hindi
CWSN Full Form In Hindi
E KYC Full Form In Hindi
ADP Full Form In Biology In Hindi
ACCA Full Form In Hindi
JRF Full Form In Hindi
SFS Full Form In Instagram In Hindi
BEMS Full Form In Hindi
PCV Vaccine Full Form In Hindi
HIV Ka Full Form In Hindi
RC Full Form In Hindi
NABH Full Form In Hindi
EDD Full Form In Hindi

Exit mobile version