OT Full Form In Hindi

दोस्तों आपने कई बार OT शब्द सुना या देखा होगा | अक्सर आपने OT शब्द फिल्मो मैं या टीवी सीरीज मैं देखा होगा। आपके मन में यह जिज्ञासा हुई होगी की OT Full Form In Hindi क्या होती है | इस आर्टिकल को पढ़ कर आप यह जान पाएंगे कि OT Full Form In Hindi क्या होती है | OT की फुल फॉर्म को अच्छे से समझने के लिए इस आर्टिकल को आप आखिर तक पढ़िएगा |

OT Full Form In Hindi

इंटरनेट में OT की दो फुल फॉर्म काफी ज्यादा प्रचलित है पहली फुल फॉर्म है ऑपरेशन थिएटर (Operation Theatre) दूसरी फुल फॉर्म ऑक्यूपेशनल थेरेपी (Occupational Therapy) होती है |

फुल फॉर्म 1 फुल फॉर्म 2 
ऑपरेशन थिएटर (Operation Theatre)ऑक्यूपेशनल थेरेपी (Occupational Therapy)

आपको ओटी (OT) की फुल फॉर्म तो पता चल गई है अब हम आपको आगे और डिटेल में इनकी जानकारी देंगे |

ऑपरेशन थिएटर (OT)

ऑपरेशन थिएटर (OT) ऐसी जगह होती है जहां पर डॉक्टर या सर्जन किसी मरीज का ऑपरेशन करते हैं | इस रूम को ऑपरेशन थिएटर कहते हैं | जब आप कभी पेशेंट से मिलने हॉस्पिटल में गए होंगे तो आपने ऑपरेशन थिएटर जरूर देखा होगा | जब किसी मरीज की सर्जरी हो रही होती है तो उसे ऑपरेशन थिएटर ले जाया जाता है |

ऑपरेशन थिएटर (OT) में सर्जरी से संबंधित सभी सेवाएं व उपकरण उपलब्ध होते हैं इसीलिए मरीज को ऑपरेशन थिएटर ले जाया जाता है | ऑपरेशन थिएटर में सर्जरी करते वक्त सिर्फ डॉक्टरों की टीम में टेक्नीशियन होते हैं |

ऑक्यूपेशनल थेरेपी (OT)

हिंदी में OT (ऑक्यूपेशनल थेरेपी) को व्यावसायिक चिकित्सक कहते हैं | ऑक्यूपेशनल थेरेपी का संबंध पैरामेडिकल से होता है | यह चिकित्सा की एक पद्धति होती है | OT के माध्यम से बच्चे, बुड्ढ़ो, इमरजेंसी के मरीजों का इलाज किया जाता है | इस चिकित्सा में काफी महंगे उपकरणों का इस्तेमाल किया जाता है |

जैसा कि इनके नाम से ही पता चलता है | व्यावसायिक चिकित्सा मतलब कि आप समझ से उन लोगों को होती है जिन का व्यवसाय होता है | यह लोग किसी समस्या की वजह से काम नहीं कर पाते हैं | उन लोगों को जो थेरेपी दी जाती है | जैसे कोई 8 साल का बच्चा है खेलना व पढ़ना बंद कर देता है उनको यह ऑक्यूपेशनल थेरेपी दी जाती है | जिससे उनका इलाज हो जाता है | जो लोग काम को अच्छे से नहीं कर पाते हैं उनके लिए ऑक्यूपेशनल थेरेपी होती है |

ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट (OT) कैसे बन सकते हैं |

अगर आप ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट (OT) बनना चाहते हैं तो आप बीएससी इन ऑक्यूपेशनल थेरेपी का कोर्स कर सकते हैं या आप डिप्लोमा इन ऑक्यूपेशनल कर सकते हैं | इस कोर्स को करने के लिए आपके 12वीं में पीसीबी सब्जेक्ट होने जरूरी है | पीसीबी यानी फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायो |

ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट बनने के लिए क्या योग्यता चाहिए ?

  • व्यक्ति के पास ऑक्यूपेशनल थेरेपी में डिग्री होनी चाहिए |
  • इसके अलावा व्यक्ति ने अगर ऑक्यूपेशनल थेरेपी में बीएससी की हो तो वह ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट बन सकता है |
  • व्यक्ति को मरीज को मोटिवेट करना आना चाहिए |
  • व्यक्ति का बिहेवियर कम्युनिकेशंस अच्छा होना चाहिए |
  • कंप्यूटर संबंधित नॉलेज होनी चाहिए |
  • व्यक्ति मानसिक लोगों को रिलैक्स करने की क्षमता रखता हो |

आयु सीमा

  • ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट का कोर्स करने से पहले व्यक्ति की आयु सीमा कम से कम 17 वर्ष होनी चाहिए |

ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट बनने के बाद कैरियर संभावनाएं |

जो छात्र ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट का कोर्स अच्छे अंकों के साथ कर लेता है | उन्हें करियर में बहुत सारी अपॉर्चुनिटी मिल जाती हैं | ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट प्राइवेट व सरकारी अस्पतालों में आसानी से नौकरी ढूढ़ सकते हैं | ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट रिहैबिलिटेशन सेंटर में भी काम कर सकते हैं | अगर कोई व्यक्ति चाहे तो खुद का अपना पर्सनल सेंटर भी खोल सकता है |

ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट का कोर्स करने के बाद वेतन

एक ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट शुरुआती महीनों में 20 से ₹35000 तक कमा सकता है | कुछ सालों का अनुभव मिल जाने के बाद ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट के वेतन में वृद्धि हो जाती है और वह 40000 से ₹50000 कमा सकता है | ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट का कोर्स करने के बाद अब नौकरी के लिए विदेशों में भी जा सकते हैं |

ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट के क्या कार्य होते हैं

  • ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट का मानसिक रूप से कमजोर लोगों का इलाज करना होता है |
  • मरीज के प्रोग्रेसिव रिपोर्ट का ध्यान रखना |
  • ट्रामा सेंटर में आने वाले मरीजों का ध्यान रखना |
  • शारीरिक व मानसिक तौर पर असक्षम लोगों की सहायता करना |
  • जिन लोगों में मानसिक विकार है उन्हें सामान्य करना |
  • मरीजों को व्यायाम व मेडिटेशन करवाना |

दोस्तों मुझे उम्मीद है इस आर्टिकल से आपको ओटी (OT) समझने मैं मदद मिली होगी अगर आपके मन में कोई प्रश्न या सवाल है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं अगर आपको हमारा आर्टिकल अच्छा लगा है तो इसे अपने दोस्त को फैमिली मेंबर्स के साथ शेयर कीजिएगा

Other Related Articles:

ESR Full Form In Hindi
CRPC Full Form In Hindi
SGPT Full Form In Hindi
ICDS Full Form In Hindi
MCH Full Form In Hindi
MFG Full Form In Hindi
PPO Full Form In Hindi
MSW Full Form In Hindi
IOT Full Form In Hindi
ISBN Full Form In Hindi
PCOD Full Form In Hindi
HCF Full Form In Hindi
APMC Full Form In Hindi
RT-PCR Full Form In Hindi
GDS Ka Full Form In Hindi
GMP Full Form In Hindi

Leave a Comment