ICDS Full Form In Hindi

इस आर्टिकल मैं हम आपको ICDS Full Form in hindi और उससे सम्बंदित सभी जानकारिया बताएँगे | “Integrated Child Development Services” ICDS की full form होती है। हिंदी मैं इसे “समेकित बाल विकास सेवाएं” या ” एकीकृत बाल विकास सेवाएं” कहते है। यह भारतीय सरकार दवारा प्रायोजित एक कार्यक्रम है। यह 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चो व उनकी माताओ को कुपोषण से बचने के लिए बनाया गया है।

ICDS Full Form In Hindi

२ अक्टूबर 1975 को ICDS शुरू किया गया था। वर्तमान मैं यह सेवा पुरे देश मैं उपलब्ध है। यह भारत सरकार के दवारा बच्चो के विकास के लिए चलायी गयी बहुत बड़ी योजना है। यह कुपोषण को तोड़ने व विकृति को कम करने के लिए चलायी गयी योजना है | ICDS योजना के तहत ०-6 साल के बच्चे व गर्भवती महिलाये आती है।

किसी भी देश की उन्नति मैं युवा वर्ग का योगदान बहुत जरुरी होता है। कोई भी देश बिना युवा वर्ग के उन्नति नहीं कर सकता है। युवा वर्ग कड़ी मेहनत व लगन से अपने देश को आगे ले जा सकता है। किसी भी देश को मजबूत बनाने से पहले हमे उसके युवा वर्ग को मजबूत बनाना पड़ेगा। ICDS सेवा इसी कार्य पर लगी हुई है।

२०11 की जनगणना के अनुसार हमारे देश मैं 15.8 करोड़ बच्चे 6 साल के या उससे कम के है। इन बच्चो मैं कुपोषण व विकृति आने की दर काफी ज्यादा है जो की सरकार के लिए एक चुनौती है। आगे चलकर सरकार ने ICDS का नाम बदलकर आंगनवाड़ी सेवा कर दिया था । ICDS सेवा भारत सरकार की प्रमुख योजनाओ मैं से एक है। आंगनवाड़ी के जरिये ही इस योजना का ज्यादातर काम सम्पन्न किया जाता है।

ICDS Full Form In Hindi

ICDS का फुल फॉर्म “Integrated Child Development Services” होता है। यह योजना भारत सरकार के दवारा २ अक्टूबर 1975 को कुपोषण से ग्रस्त बच्चो के लिए चलायी गयी थी। यह छोटे बच्चो खासकर की विकलांग बच्चो को सहायता प्रदान करने हेतु बनायीं गयी थी। इस योजना के तहत 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चो व उनकी माताओ को भोजन व पूर्व स्कूली शिक्षा प्रदान की जाती है। इस योजना मैं बेसिक हैल्थकेयर, टीकाकरण, स्वास्थ सम्बंधित जांचे मुफ्त मैं उपलब्ध कराई जाती है।

ICDS के उद्देश्य |

  • ICDS 6 वर्ष व उससे काम उम्र के बच्चो व उनकी माताओ को स्वास्थ सम्बन्धी सेवाएं उपलब्ध करता है।
  • आवश्यक संस्था बनाना जिससे की कुपोषित बच्चो को जरूरती स्वास्थ्य सेवाएं पहुचायी जा सके।
  • ICDS के लिए database बनाना।
  • बच्चो के शारीरिक व मानसिक विकास पर धयान देना।
  • बच्चो मैं कुपोषण की दर को काम करना और शिक्षित दर को बढ़ाना।
  • बच्चो के साथ साथ माताओ के स्वास्थ मैं भी सुधार लाना।

ICDS मैं 4 घटक होते है।

  • स्वास्थ
  • पोषण
  • बच्चो का विकास और उनकी शिक्षा
  • संघटन जागरूकता और संचार

जिला कार्यक्रम अधिकारी (DPO), विकास परियोजना अधिकारी (CDPO), आंगनवाड़ी सहायक व पर्यवेक्षक मिलकर के एक ICDS टीम बनाते है। इन लोगो का काम बच्चो व महिलाओ को बेहतर काम के लिए समुदाय मैं शामिल करना होता है। आज हमारे देश मैं ICDS टीम की मदद से लाखो बच्चो का स्वास्थ व शिक्षा सम्वन्धित सेवाए मिल रही है। दूसरे स्टाफ के मेडिकल ऑफिसर्स , महिला सहायक व नर्स भी जरुरत पड़ने पर ICDS टीम की मदद करती है। इन लोगो का काम ० से 6 साल के बच्चो को स्वास्थ्य सम्बंदित सेवाएं उपलब्ध करना होता है।

सेवाए जो ICDS के अंदर आती है |

ICDS निम्नलिखित सेवाएं प्रदान करने का कार्य करता है।

  • Immunization
  • Nutrition
  • Necessary Education
  • Health Care

इन सेवाओं का लाभ उठाने के लिए आप अपने नजदीकी ICDS सेण्टर मैं जा सकते है। इन सभी सेंटर्स मैं आंगनवाड़ी कार्यकर्त्ता होते है जो आपकी मदद कर सकते है। इन आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व अधिकारियो का काम स्वास्थ सम्बन्धी, टीकाकरण सम्बन्धी व प्रसवोत्तर सम्बन्धी जानकारिया प्रदान करना होता है।

सरकार की तरफ से 6 व उससे कम उम्र के बच्चो के लिए ये सेवा बहुत लाभदायक है। ICDS का मुख्य उद्देश्य बच्चो मैं मृत्यु दर कम करना व उन्हें बेसिक शिक्षा प्रदान करना है। ICDS बच्चो व माताओ की सेवाओं के लिए काफी अच्छा काम कर रहा है |

4 सेवाए जो ICDS के अंतर्गत बच्चो व उनकी माताओ को प्रदान की जाती है इस प्रकार है।

Immunisations

बच्चो मैं बीमारियों की रोकथाम के लिए ICDS दवारा टीकाकरण दिया जाता है। टेटनस, तपेदिक और खसरा जैसी बीमारियों से बचने के लिए बच्चो को टीकाकरण दिया जाता है। नवजात शिशुओं की मृत्यु दर को काम करने के लिए माताओ को टेटनस का टिका दिया जाता है। महिलाओ को टेटनस का टिका देने से नवजात शिशुओं की मृत्यु दर मैं काफी कमी आयी है।

Supplementary Nutrition

6 साल से कम उम्र के बच्चो व उनकी माताओ को अच्छा नुट्रिशन मिल सके इसके लिए विटामिन्स की गोलिया, खादयान्न व चावल दिए जाते है। 6 साल से कम उम्र के बच्चो का वजन आयु कार्ड बनाया जाता है जिससे की उन्हें समय समय पर विटामिन्स की गोलिया व खादयान्न मिल सके।

Health Checkups

गर्भवती महिलाओ व 6 साल से काम उम्र के बच्चो का समय समय पर चेकउप कराया जाता है जिससे यह देखा जा सके उनमे कोई बीमारी या विटामिन्स की कमी तो नहीं है। गर्भवती महिलाओ व महिलाओ को प्रसवोत्तर सेवाएं प्रदान की जाती है।

Referral Services

स्वास्थ्य परीक्षण के बाद जिन बच्चो व महिलाओ को चिकित्सा की जरुरत होती है उनको प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा जाता है। जो बच्चे गंभीर रूप से कुपोषण का शिकार होते है उनको NRCs केंद्र भेजा जाता है। जो बच्चे विकलांग पैदा होते है उन्हें अलग से बनाये गए केन्द्रो मैं भेजा जाता है। इसके अलावा 3-6 वर्ष के बच्चो को बेसिक शिक्षा प्रदान की जाती है। महिलाओ को भी पोषण व स्वास्थ्य सम्बन्धी सेवाएं उपलब्ध कराई जाती है।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ को उनकी सेवाओं के लिए भुगतान किया जाता है। बाल विकास मंत्रालय (MWCD) के पास ICDS के सभी कार्यो की जिम्मेदारी होती है। भारत मैं अनुसूचित जनजाति के 54.5% बच्चे कुपोषित है। जो बच्चे सामाजिक रूप से बहिस्कृत है उनमे ये आकड़ा और भी अधिक देखने को मिलता है।

2012 व 2013 के आकड़े यह दर्शाते है की 10 % ICDS केंद्र कुपोषित बच्चो व महिलाओ को पोषण व सेवाएं प्रदान नहीं करा पा रहे है | ICDS दवारा प्रदान की जाने वाली सेवाए सभी समुदायों तक नहीं पहुंच पा रही है।

Other Articles:

ESR Full Form In Hindi
CRPC Full Form In Hindi
SGPT Full Form In Hindi
ICDS Full Form In Hindi
MCH Full Form In Hindi
MFG Full Form In Hindi
PPO Full Form In Hindi
MSW Full Form In Hindi
IOT Full Form In Hindi
ISBN Full Form In Hindi
PCOD Full Form In Hindi
HCF Full Form In Hindi
APMC Full Form In Hindi
RT-PCR Full Form In Hindi
GDS Ka Full Form In Hindi
GMP Full Form In Hindi
OT Full Form In Hindi
DMLT Full Form In Hindi
CBT Full Form In Hindi

Leave a Comment