Now In Hindi

CBT Full Form In Hindi

CBT Full Form In Hindi

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम यह जानेंगे कि सीबीटी (CBT) क्या होता है तथाCBT Full Form In Hindi क्या होती है | दोस्तों आपका हमारी वेबसाइट nowinhindi.com पर स्वागत है आज के इस आर्टिकल में हम आपको सीबीटी से जुडी हुई महत्वपूर्ण जानकारियां बताएंगे |

वैसे तो इंटरनेट में सीबीटी (CBT) की कई सारी फुल फॉर्म है | पर इस आर्टिकल में हम दो महत्वपूर्ण फुल फॉर्म्स के बारे में जानेंगे | सीबीटी (CBT) को अच्छे से समझने के लिए इस आर्टिकल को आप अंत तक पढ़िएगा |

CBT Full Form In Hindi

सीबीटी की दो प्रचलित फुल फॉर्म निम्न प्रकार है :

Full Form 1Full Form 2
Computer Based TestCognitive Behavioral Therapy

सीबीटी (CBT) की फुल फॉर्म तो आप जाने गए हैं अब इसको और अच्छे से समझते हैं |

कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (Computer Based Test)

कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (CBT) का मतलब है कंप्यूटर के द्वारा किसी परीक्षा का देना | आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में जहां लोगों के पास समय की कमी है सारे एग्जाम कंप्यूटर के द्वारा ही हो रहे हैं | इन एग्जाम को कंप्यूटर बेस्ड एग्जाम (Computer Based Test) कहते हैं | सीबीटी (CBT) का हिंदी अर्थ कंप्यूटर आधारित परीक्षण होता है | कई सारे लोग सीबीटी (CBT) को ऑनलाइन एग्जाम भी कहते हैं |

सीबीटी (CBT) के फायदे |

सीबीटी (CBT) एग्जाम का एक फायदा यह है कि यह बहुत ही सुरक्षित होता है | सॉफ्टवेयर में सारे प्रश्न अपलोड हो जाने के बाद आगे पीछे करके छात्रों को दिए जाते हैं जिससे छात्रों में नकल करने की संभावना काफी ज्यादा कम हो जाती है | सीबीटी (CBT) पेपर लीक जैसी समस्याओं से निपटने के लिए भी काफी मददगार साबित होती है |

सीबीटी (CBT) की प्रक्रिया नकल को रोकने में काफी सक्षम है | कंप्यूटर द्वारा नकल करने पर चेतावनी भी दी जाती है | चेतावनी के बाद छात्र का पेपर बंद भी किया जा सकता है | सीबीटी (CBT) द्वारा प्राप्त अंकों की गिनती काफी आसानी व जल्दी से की जा सकती है | सीबीटी (CBT) पूरे परीक्षा प्रणाली को काफी जल्दी कर देती है जिससे काफी ज्यादा समय बच जाता है |

सीबीटी (CBT) की वजह से परीक्षा में होने वाला खर्चा भी काफी कम हो जाता है | परीक्षा का पूर्ण संचालन टेक्नोलॉजी के माध्यम से किया जाता है | बहुत सारे उम्मीदवारों को जब परीक्षा देनी होती है तो सीबीटी (CBT) काफी ज्यादा फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें खर्चा काफी कम होता है |

ऑनलाइन परीक्षा में सीबीटी (CBT) का यूज करके प्रश्न पत्र बनाना काफी आसान हो जाता है | पारंपरिक तरीके से प्रश्न पत्रों को बनाना काफी मुश्किल हो जाता है क्योंकि उसमें प्रिंटिंग का भी खर्चा आ जाता है तथा गोपनीयता बनाना भी मुश्किल होता है | ऑनलाइन परीक्षा में प्रश्न पत्रों को अपलोड करना काफी ज्यादा आसान हो जाता है इसमें पेपर के लीक होने की संभावना काफी कम रहती है |

परीक्षा के पूर्ण हो जाने के बाद उसका परीक्षण भी टेक्नोलॉजी के द्वारा किया जा सकता है | जो कि काफी आसान, बहुत जल्दी हो जाता है | जिसमें जांच सटीकता भी काफी ज्यादा अच्छी होती है | किसी शिक्षक द्वारा कॉपी जांच करने में त्रुटि होने की संभावनाएं काफी ज्यादा रहती है | ऑनलाइन कॉपी चेक करने में किसी शिक्षक की जरूरत नहीं होती तथा उस पर होने वाला खर्च भी काफी कम हो जाता है | परीक्षा देने वाले छात्र अलग-अलग कंप्यूटर स्क्रीन पर परीक्षा दे सकते हैं |

सीबीटी (CBT) एग्जाम का आयोजन कराना भी काफी आसान होता है इसमें किसी निरीक्षक की जरूरत भी नहीं पड़ती है | सीबीटी (CBT) के जरिए 40 से 50 कैंडिडेट आसानी से परीक्षा दे सकते हैं | ऑफलाइन परीक्षा के तुलना में सीबीटी (CBT) परीक्षाएं काफी ज्यादा सस्ती, सुरक्षित व आसान होती है |

कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी (Cognitive Behavioral Therapy)

कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी (CBT) का इस्तेमाल मनोवैज्ञानिकों द्वारा मनो विकारों को ठीक करने में किया जाता है | इस थेरेपी में व्यक्ति की नकारात्मक सोच को परिवर्तित करने का कार्य किया जाता है तथा उसके नकारात्मक भावनाओं में परिवर्तन लाने का प्रयत्न किया जाता है | मानसिक समस्याओं से जूझ रहे लोगों के लिए सीबीटी (CBT) काफी ज्यादा फायदेमंद साबित होती है | सीबीटी (CBT) के जरिए नकारात्मक सोच को सकारात्मक सोच में बदला जा सकता है |

कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी (CBT) एक टॉप थेरेपी होती है जहां मनोवैज्ञानिक बातें करके रोगी के नकारात्मक विचारों को सकारात्मक विचारों मैं बदलने की कोशिश करता है | सीबीटी के जरिए रोगी को नकारात्मक विचारों को सकारात्मक विचारों मैं बदलने व दुनिया को सकारात्मक तरीके से देखने में मदद मिलती है | कोई भी व्यक्ति सीबीटी (CBT) थेरेपी से लाभ ले सकता है यह सिर्फ मानसिक रोगियों के लिए ही नहीं है |

आजकल के दौर में लोग तनाव व चिंता से काफी ज्यादा परेशान है | काफी छोटी-छोटी बातों में लोग तनाव और चिंता में आ जाते हैं | यदि आप तनाव हो उदासी महसूस करते हैं तो आप सीबीटी थेरेपी का लाभ उठा सकते हैं | आप किसी मनोवैज्ञानिक के पास आकर यहां थेरेपी ले सकते हैं | इसे आपको तनाव और चिंता से निपटने में काफी सहायता मिलेगी |

सीबीटी (CBT) के जरिए कोई भी व्यक्ति अपने नकारात्मक विचारों के पैटर्न को खत्म कर सकता है | अवसाद, चिंता, मनोविकार जैसी मानसिक बीमारियों में इलाज के लिए सीबीटी (CBT) काफी उपयोगी माना गया है |

सीबीटी (CBT) थेरेपी कैसे काम करती है ?

सीबीटी (CBT) थेरेपी उन विचारों का इलाज करती है जो कि व्यक्ति के सामाजिक परिस्थिति रिश्ते तथा सोच में समस्याएं पैदा कर देते हैं | सीबीटी (CBT) के दौरान मनोवैज्ञानिक उन विचारों को बदलने की कोशिश करता है जो व्यक्ति के सामाजिक जीवन में समस्याएं पैदा कर रही होती है |

कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी (CBT) के दौरान रोगियों को उनकी सोच को समझने मैं मदद मिलती है | जिसके कारण उसके सामाजिक जीवन में समस्याएं पैदा हो रही होती है | इसके साथ ही उसे अपने विचारों का मूल्यांकन करना सिखाया जाता है |

नकारात्मक सोच की वजह से रोगी का व्यवहार काफी ज्यादा बदल जाता है | सीबीटी (CBT) थेरेपी रोगी के विचारों में बदलाव लाकर उसके जीवन को बेहतर बनाने की कोशिश करती है | सीबीटी (CBT) का अहम रोल रोगी को सामाजिक समस्याओं को सुलझाने में काफी ज्यादा मददगार होता है |

Other Full Forms Of CBT

सीबीटी (CBT) की अन्य फुल फॉर्म निम्न प्रकार है :

दोस्तों मुझे उम्मीद है आपको हमारा CBT Full Form In Hindi के ऊपर आर्टिकल पसंद आया होगा | अगर आप कोई सुझाव या प्रश्न पूछना चाहते हैं तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं | अगर आप कोई आर्टिकल अच्छा लगा है तो इसे अपने दोस्तों को फैमिली मेंबर्स के साथ शेयर जरूर करिएगा |

Other Related Articles:

ESR Full Form In Hindi
CRPC Full Form In Hindi
SGPT Full Form In Hindi
ICDS Full Form In Hindi
MCH Full Form In Hindi
MFG Full Form In Hindi
PPO Full Form In Hindi
MSW Full Form In Hindi
IOT Full Form In Hindi
ISBN Full Form In Hindi
PCOD Full Form In Hindi
HCF Full Form In Hindi
APMC Full Form In Hindi
RT-PCR Full Form In Hindi
GDS Ka Full Form In Hindi
GMP Full Form In Hindi
OT Full Form In Hindi
DMLT Full Form In Hindi

Exit mobile version